मुंहासों और दाग़-धब्बों के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्ख़े, पाएं फ़्लॉलेस स्किन (Try These Home Remedies For Acne And Scars To Get Flawless Skin)

Home / User Blog / मुंहासों और दाग़-धब्बों के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्ख़े, पाएं फ़्लॉलेस स्किन (Try These Home Remedies For Acne And Scars To Get Flawless Skin)

मुंहासों और दाग़-धब्बों के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्ख़े, पाएं फ़्लॉलेस स्किन (Try These Home Remedies For Acne And Scars To Get Flawless Skin)

**[Ayurvedic Ke Nuskhe][1]**:- ये गुलाबों ने तुझसे है रंगत पाई या तेरे चेहरे पर ही गुलाबी आभा उभर आई… रुख़सार पर कंवल और होंठ जैसे गुलमोहर… दिन में माहताब और मेरी रातों का आफ़ताब… तेरे नूर से चांदनी भी नहाती है, दुनिया तुझे क़यामत बुलाती है…
खूबसूरत फ़्लॉलेस स्किन हम सभी चाहते हैं. स्किन पर नेचुरल ग्लो और ताज़गी हमारी अच्छी सेहत की भी निशानी होतीहै, लेकिन कई कारणों से होनेवाली स्किन प्रॉब्लम्स हमारी ख़ूबसूरती को फीका कर देती है, ऐसे में ज़रूरी है कि हम छोटी-छोटी बातों का ख़याल रखें और आसान घरेलू उपायों से इन समस्याओं से छुटकारा पाएं.

पिंपल्स-एक्ने: ये एक आम समस्या है और ऐसा नहीं है कि सिर्फ़ टीन एजर्स ही इससे परेशान हैं बल्कि बढ़ती उम्र मेंहार्मोनल बदलाव, हमारी स्ट्रेसफुल लाइफ़स्टाइल आदि भी इसकी वजह हो सकती हैं.

स्किन को क्लीन रखें और हाथों से कील-मुंहासों को फोड़ें नहीं.
केमिकल युक्त स्किन प्रोडक्ट का इस्तेमाल न करें.
बर्फ़ रगड़ें. ये न सिर्फ़ कूलिंग इफ़ेक्ट देती है, बल्कि ब्लड सर्क्यूलेशन भी बढ़ाती है. इससे पिम्पल की लालिमा औरसूजन भी कम होगी और वो जल्दी सूखकर छोटा होता जाएगा.
मुलतानी मीट्टी और चंदन में गुलाबजल मिलाकर पाते तैयार करें. इसे अप्लाई करें. सूखने पर धो लें.
दालचीनी पाउडर प्रभावित जगहों पर लगाने से भी राहत मिलती है.
शहद से मसाज करें.
एलोवीरा जेल लगाएं. इसमें हीलिंग प्रॉपर्टीज़ होती हैं और ये एंटी बैक्टिरियल होता है.
हल्दी पाउडर में थोड़ा सा दूध या पानी मिलाकर अप्लाई करें. हल्दी के गुणों से तो सभी वाक़िफ़ हैं. हल्दी me चंदनपाउडर भी मिक्स कर सकते हैं.
नीम के पत्तों का पेस्ट लगाएं. चाहें तो नीम के पत्तों को पीसकर उसमें चंदन पाउडर और हल्दी पाउडर भी मिक्स करलें.
पानी पिएं और हाइड्रेटेड रहें.
पेट साफ़ रखें. ऑयली व जंक फ़ूड कम खाएं.
नींद पूरी लें और स्ट्रेस लेवल कम करने का प्रयास करें.
डेयरी प्रोडक्ट्स थोड़ा कम कर दें क्योंकि पिंपल्स व एक्ने की समस्या ऑयली स्किन वालों को अधिक होती है औरडेयरी प्रोडक्ट्स से ऑयल ग्लैंड्स ज़्यादा एक्टिवेट हो जाते हैं.
हां, दही व छाछ का सेवन ज़रूर करें और शुगर कम कर दें.
हरी पत्तेदार सब्ज़ियां खाएं, नींबू, ककड़ी, मौसमी फल और विटामिन सी का सेवन करें. ग्रीन टी पिएं. ये सभी पिंपलव एक्ने में काफ़ी कारगर हैं.ये गुलाबों ने तुझसे है रंगत पाई या तेरे चेहरे पर ही गुलाबी आभा उभर आई… रुख़सार पर कंवल और होंठ जैसे गुलमोहर… दिन में माहताब और मेरी रातों का आफ़ताब… तेरे नूर से चांदनी भी नहाती है, दुनिया तुझे क़यामत बुलाती है…
खूबसूरत फ़्लॉलेस स्किन हम सभी चाहते हैं. स्किन पर नेचुरल ग्लो और ताज़गी हमारी अच्छी सेहत की भी निशानी होतीहै, लेकिन कई कारणों से होनेवाली स्किन प्रॉब्लम्स हमारी ख़ूबसूरती को फीका कर देती है, ऐसे में ज़रूरी है कि हम छोटी-छोटी बातों का ख़याल रखें और आसान घरेलू उपायों से इन समस्याओं से छुटकारा पाएं.

पिंपल्स-एक्ने: ये एक आम समस्या है और ऐसा नहीं है कि सिर्फ़ टीन एजर्स ही इससे परेशान हैं बल्कि बढ़ती उम्र मेंहार्मोनल बदलाव, हमारी स्ट्रेसफुल लाइफ़स्टाइल आदि भी इसकी वजह हो सकती हैं.

स्किन को क्लीन रखें और हाथों से कील-मुंहासों को फोड़ें नहीं.
केमिकल युक्त स्किन प्रोडक्ट का इस्तेमाल न करें.
बर्फ़ रगड़ें. ये न सिर्फ़ कूलिंग इफ़ेक्ट देती है, बल्कि ब्लड सर्क्यूलेशन भी बढ़ाती है. इससे पिम्पल की लालिमा औरसूजन भी कम होगी और वो जल्दी सूखकर छोटा होता जाएगा.
मुलतानी मीट्टी और चंदन में गुलाबजल मिलाकर पाते तैयार करें. इसे अप्लाई करें. सूखने पर धो लें.
दालचीनी पाउडर प्रभावित जगहों पर लगाने से भी राहत मिलती है.
शहद से मसाज करें.
एलोवीरा जेल लगाएं. इसमें हीलिंग प्रॉपर्टीज़ होती हैं और ये एंटी बैक्टिरियल होता है.
हल्दी पाउडर में थोड़ा सा दूध या पानी मिलाकर अप्लाई करें. हल्दी के गुणों से तो सभी वाक़िफ़ हैं. हल्दी me चंदनपाउडर भी मिक्स कर सकते हैं.
नीम के पत्तों का पेस्ट लगाएं. चाहें तो नीम के पत्तों को पीसकर उसमें चंदन पाउडर और हल्दी पाउडर भी मिक्स करलें.
पानी पिएं और हाइड्रेटेड रहें.
पेट साफ़ रखें. ऑयली व जंक फ़ूड कम खाएं.
नींद पूरी लें और स्ट्रेस लेवल कम करने का प्रयास करें.
डेयरी प्रोडक्ट्स थोड़ा कम कर दें क्योंकि पिंपल्स व एक्ने की समस्या ऑयली स्किन वालों को अधिक होती है औरडेयरी प्रोडक्ट्स से ऑयल ग्लैंड्स ज़्यादा एक्टिवेट हो जाते हैं.
हां, दही व छाछ का सेवन ज़रूर करें और शुगर कम कर दें.
हरी पत्तेदार सब्ज़ियां खाएं, नींबू, ककड़ी, मौसमी फल और विटामिन सी का सेवन करें. ग्रीन टी पिएं. ये सभी पिंपलव एक्ने में काफ़ी कारगर हैं.

https://ayurvedickenuskhe.blogspot.com/2022/05/try-these-home-remedies-for-acne-and.html

[1]: https://ayurvedickenuskhe.blogspot.com/

  •  

Leave a Comment